समर्थक

मंगलवार, जुलाई 14, 2009

‘‘नानक सागर डाम’’ (डॉ. रूपचन्द्र शास्त्री ‘मयंक’)



पन्द्रह कि.मी. तक सिर्फ पानी ही पानी। दूर दिखाई दे रही , कुमाऊँ की सुरम्य पर्वतमाला।
आप ऊपर जो चित्र देख रहे हैं। यह किसी समूद्र का चित्र नही है।
यह दृश्य है उत्तराखण्ड की नैनीताल कमिश्नरी के जिला-ऊधमसिंहनगर स्थित नानक सागर डाम का।
यह दिल्ली से 300 किमी की दूरी पर स्थित है।
इसको कुमाऊँ की पहाड़ियों से निकले कई नदी नाले बरसात में पानी से लवरेज कर देते हैं।
लेकिन देवहा नाला इसको भरने में अपनी प्रमुख भूमिका निभाता है। इससे निकले अतिरिक्त पानी से आगे चल कर देवहा नदी बनी है। जो पीलीभीत जिले में अपने विशालरूप के लिए जानी जाती है।
यदि डामों की बात करे तो अधिकांश डाम भूमि में गहराई पर बने होते है। परन्तु यह इकलौता डाम है जो कि भूमि के ऊपर बना है। यह एक उथला डाम हैं जिसे मजबूत बाँध बनाकर निर्मित किया गया है। इसका निर्माण तत्कालीन उत्तर-प्रदेश सरकार ने 1962 में कराया था।
इसके एक किनारे पर नानकमत्ता साहिब है। नानकमत्ता की लगभग 800 एकड़ भूमि का अधिग्रहण सरकार द्वारा कर लिया गया था।
गुरू नानक देव द्वारा जमीन में फावड़ा मार पानी की धारा प्रकट की गयी थी। जिसे बाउली साहब के नाम से पुकारा जाता है। वह भी इस भूमि पर ही है। सरकार ने पुल बनाकर इस स्थान को सुरक्षित बचा लिया था।
आज नानक सागर डाम एक पर्यटन स्थल के रूप में भी जाना जाता है। इसके किनारे बने पार्क सैलानियों का मन मोह लेते हैं।
ऊपर जो पार्क दिखाई दे रहा है। यह नानक सागर डाम के किनारे पर ही स्थित है। हम भी कभी-कभी यहाँ पर पिकनिक मनाने के लिए जाते हैं। पार्क में छतरीनुमा पेड़ आपको गर्मी का आभास नही होने देंगे।
अगर आप कभी नैनीताल घूमने आयें तो नानकमत्ता अवश्य आयें। गुरूद्वारा में मत्था टिकायें, लंगर छकें और आसपास के अजूबों को भी अपने कैमरे में कैद करके पिकनिक का भरपूर आनन्द उठायें।
(चित्र गूगल सर्च से साभार)


16 टिप्‍पणियां:

  1. पहली तस्वीर देखते ही लगा कि ये भा्खडा की सतलुज झील ह मगर नीचे जा कर असलीअत पता लगी बहुत सुन्दररउर मनोहर दृश्य हैं आभार्

    उत्तर देंहटाएं
  2. आभार इस जानकारी का. तस्वीरें बहुत सुन्दर हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  3. sundar!!!
    atyant manmohak drishy..
    jaankari to bahut hi rochak rahi..
    hame jyada isake bare me pata nahi tha..
    bahut bahut abhar aapka..
    dhanywaad..

    उत्तर देंहटाएं
  4. बहुत प्यारी पोस्ट
    जानकारी और तस्वीरों से भरपूर .बधाई!

    उत्तर देंहटाएं
  5. Mausa ji !
    abki bar jab ham aapke yahan aayenge to hame ye dam jaroor ghuma kar lana.

    उत्तर देंहटाएं
  6. बहुत सुन्दर,
    जानकारी के लिए आभार।

    उत्तर देंहटाएं
  7. इसके रोचक जानकारी के लिए धन्यवाद ज्ञापित करता हूँ।

    उत्तर देंहटाएं
  8. इस सचित्र यात्रा में खूब मजा आया.. आभार

    उत्तर देंहटाएं
  9. लाजवाब सचित्र जानकारी का हार्दिक आभार.

    चन्द्र मोहन गुप्त

    उत्तर देंहटाएं
  10. प्राचीन परम्‍परा की धरोधर है, नानकमता

    उत्तर देंहटाएं
  11. प्राचीन परम्‍परा की धरोधर है, नानकमता

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

कृपया नापतोल.कॉम से कोई सामन न खरीदें।

मैंने Napptol.com को Order number- 5642977
order date- 23-12-1012 को xelectron resistive SIM calling tablet WS777 का आर्डर किया था। जिसकी डिलीवरी मुझे Delivery date- 11-01-2013 को प्राप्त हुई। इस टैब-पी.सी में मुझे निम्न कमियाँ मिली-
1- Camera is not working.
2- U-Tube is not working.
3- Skype is not working.
4- Google Map is not working.
5- Navigation is not working.
6- in this product found only one camera. Back side camera is not in this product. but product advertisement says this product has 2 cameras.
7- Wi-Fi singals quality is very poor.
8- The battery charger of this product (xelectron resistive SIM calling tablet WS777) has stopped work dated 12-01-2013 3p.m. 9- So this product is useless to me.
10- Napptol.com cheating me.
विनीत जी!!
आपने मेरी शिकायत पर करोई ध्यान नहीं दिया!
नापतोल के विश्वास पर मैंने यह टैबलेट पी.सी. आपके चैनल से खरीदा था!
मैंने इस पर एक आलेख अपने ब्लॉग "धरा के रंग" पर लगाया था!

"नापतोलडॉटकॉम से कोई सामान न खरीदें" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

जिस पर मुझे कई कमेंट मिले हैं, जिनमें से एक यह भी है-
Sriprakash Dimri – (January 22, 2013 at 5:39 PM)

शास्त्री जी हमने भी धर्मपत्नी जी के चेतावनी देने के बाद भी
नापतोल डाट काम से कार के लिए वैक्यूम क्लीनर ऑनलाइन शापिंग से खरीदा ...
जो की कभी भी नहीं चला ....ईमेल से इनके फोरम में शिकायत करना के बाद भी कोई परिणाम नहीं निकला ..
.हंसी का पात्र बना ..अर्थ हानि के बाद भी आधुनिक नहीं आलसी कहलाया .....
--
मान्यवर,
मैंने आपको चेतावनी दी थी कि यदि आप 15 दिनों के भीतर मेरा प्रोड्कट नहीं बदलेंगे तो मैं
अपने सभी 21 ब्लॉग्स पर आपका पर्दाफास करूँगा।
यह अवधि 26 जनवरी 2013 को समाप्त हो रही है।
अतः 27 जनवरी को मैं अपने सभी ब्लॉगों और अपनी फेसबुक, ट्वीटर, यू-ट्यूब, ऑरकुट पर
आपके घटिया समान बेचने
और भारत की भोली-भाली जनता को ठगने का विज्ञापन प्रकाशित करूँगा।
जिसके जिम्मेदार आप स्वयं होंगे।
इत्तला जानें।