समर्थक

गुरुवार, जनवरी 20, 2011

"रस काव्य की आत्मा है" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री "मयंक")

♥ रस काव्य की आत्मा है ♥
सबसे पहले यह जानना आवश्यक है कि रस क्या होता है?
कविता पढ़ने या नाटक देखने पर पाठक या दर्शक को जो आनन्द मिलता है उसे रस कहते हैं।
आचार्यों ने रस को काव्य की आत्मा की संज्ञा दी है।
रस के चार अंग होते हैं। 
1- स्थायी भाव,
2- विभाव,
3- अनुभाव और
4- संचारी भाव
सहृदय व्यक्ति के हृदय में जो भाव स्थायी रूप से विद्यमान रहते हैं, उन्हें स्थायी भाव कहा जाता है। यही भाव रस का बोध पाठक को कराते हैं।
काव्य के प्राचीन आचार्यों ने स्थायी भाव की संख्या नौ निर्धारित की थी, जिसके आधार पर रसों की संख्या भी नौ ही मानी गई थी।
स्थायी भाव                    रस
रति                                           शृंगार
हास                                           हास्य
शोक                                          करुण
क्रोध                                          रौद्र
उत्साह                                      वीर
भय                                           भयानक
जुगुप्सा (घृणा)                         वीभत्स
विस्मय                                    अद्भुत
निर्वेद                                       शान्त
लेकिन अर्वाचीन विद्वानों ने वात्सल्य के नाम से दसवाँ रस भी स्वीकार कर लिया। किन्तु इसका भी स्थायी भाव रति ही है। अन्तर इतना है कि जब रति बालक के प्रति उत्पन्न होती है तो उससे वात्सल्य की और जब ईश्वर के प्रति होती है तो उससे भक्ति रस की निष्पत्ति होती है।
विभाव
जिसके कारण सहृदय व्यक्ति को रस प्राप्त होता है , वह विभाव कहलाता है। अतः स्थायी भाव का कारण विभाव है। यह दो प्रकार का होता है-
क- आलम्बन विभाव
ख- उद्दीपन विभाव
(I) आलम्बन विभाव
वह कारण जिस पर भान अवलम्बित रहता है- अर्थात् जिस व्यक्ति या वस्तु के प्रति मन में रति आदि स्थायी भाव उत्पन्न होते हैं, उसे आलम्बन कहते हैं तता जिस व्यक्ति के मन में स्थायी भाव  उत्पन्न होते हैं उसे आश्रय कहते हैं। उदाहरण के लिए पुत्र की मृत्यु पर विलाप करती हुई माता। इसमें माता आश्रय है और पुत्र आलम्बन है। अतः यहाँ स्थायी भाव शोक है जिससे करुणरस की उत्पत्ति होती है। 
(II) उद्दीपन विभाव
जो आलम्बन द्वारा उत्पन्न भावों को उद्दीप्त करते हैं, वे उद्दीपन विभाव कहलाते हैं। जैसे- जंगल में  सिंह का गर्जन। इससे भय का स्थायी भाव उद्दीप्त होता है और सिंह का खुला मुख जंगल की भयानकता आदि का उद्दीपन विभाव है। इससे भयानक रस की उत्पत्ति होती है।
अनुभाव
स्थायी भाव के जाग्रत होने पर आश्रय की वाह्य चेष्टाओं को अवुबाव कहा जाता है। जैसे- भय उत्पन्न होने पर हक्का-बक्का हो जाना, रोंगटे खड़े हो जाना, काँपना, पसीने से तर हो जाना आदि।
यदि बिना किसी भावोद्रेक के मात्र भौतिक परिस्थिति के कारण अगर ये चेष्टाएँ दिखाई पड़ती हैं तो उन्हें अनुभाव नहीं कहा जाएगा। जैसे - जाड़े के कारण काँपना या गर्मी के कारण पसीना निकलना आदि।
संचारी भाव
आश्रय के मन में उठने वाले अस्थिर मनोविकारों को संचारी भाव कहते हैं। ये मनोविकार पानी के बुलबुले की भाँति बनते और मिटते रहते हैं, जबकि स्थायी भाव अन्त तक बने रहते हैं।
यहाँ यह भी उल्लेख करना आवश्यक है कि प्रत्येक रस का स्थायी भाव  तो निश्चित है परन्तु एक ही संचारी अनेक रसों में हो सकता है। जैसे - शंका शृंगार रस में भी हो सकती है और भयानक रस में भी। यहाँ यह भी विचारणय है कि स्थायी भाव भी दूसरे रस में संचारी भाव हो जाते हैं। जैसे - हास्य रस का स्थायी भाव "हास" शृंगार रस में संचारी भाव बन जाता है। संचारी भाव को व्यभिचारी भाव के नाम से भी जाना जाता है।
रसों के बारे में अपनी अगली किसी पोस्ट में यहीं पर प्रकाश डालूँगा।
----------------

20 टिप्‍पणियां:

  1. अरे वाह शास्त्री जी आज तो पूरे ज्ञान की पोटली ही खोल दी आपने……………बहुत ही विस्तृत और गहन जानकारी दे रहे हैं अब तो अगली पोस्ट का इंतज़ार रहेगा।

    उत्तर देंहटाएं
  2. क्या बात है आज तो कक्षा लगा ली आपने ..बहुत कुछ सीखा हमने .आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  3. रस, छंद और अलंकार .... स्कूल में रट कर पढ़ते थे उसे आज याद कर उनका सही मायने समझ में आता है ... आज आपने विस्तार से प्रस्तुत किया बहुत अच्छा लगा..आभार

    उत्तर देंहटाएं
  4. रसों पर बहुत उम्दा लेख ।
    आभार।

    उत्तर देंहटाएं
  5. जानकारी से परिपूर्ण बढ़िया आलेख

    उत्तर देंहटाएं
  6. My Super Webtip: Schnell diskret serioes und billig:
    [url=http://kamagrapharma.com/] kamagra bestellen[/url]



    [url=http://www.kamagrapharma.com][b]
    kamagra jelly gel
    [/b][/url] www.kamagrapharma.com





    VERY Necessary for all men:


    http://kamagra-deutschland.kamagrapharma.com






    [url=http://www.kamagraplanet.com]
    kamagra deutschland[/url] www.kamagraplanet.com
    [img]http://shopkamagra.kamagrapharma.com/images/kamagra-shop.JPG[/img][/url]
    [url=http://www.kamagralove.com]
    kamagra aus deutschland[/url] www.kamagralove.com

    उत्तर देंहटाएं
  7. इस ब्लॉग पर तो शायद पहली बार आया हूं। यहां तो खजाना छुपा रखा है आपने। और आज बताया ....?!!!
    बहुत सुंदर और रोचक-सरस तरीक़े से समझाया है आपने इस विषय पर।

    उत्तर देंहटाएं
  8. इतने ज्ञान की बातें ....बहुत अच्छी जानकारी मिली ...या यूँ कहें की भूली बिसरी बातें याद हो आयीं :)

    उत्तर देंहटाएं
  9. [url=http://www.invisalignsydney.com]Invisalign Sydney[/url]
    [url=http://www.clearbracessydney.com]Clear Braces Sydney[/url]
    [url=http://www.lookwhosblogging.com]Gourmet Food[/url]
    [url=http://www.sydneycitydental.com.au]Cosmetic Dentist Sydney[/url]
    [url=http://www.akb007.com]Email Marketing and SEO Specialist[/url] [url=http://www.lookwhosblogging.com][img]http://www.lookwhosblogging.com/images/smile.gif[/img][/url]

    उत्तर देंहटाएं
  10. My Super Webtip: Schnell diskret serioes und billig:
    [url=http://kamagrapharma.com/] kamagra bestellen[/url]



    [url=http://www.kamagrapharma.com][b]
    kamagra jelly gel
    [/b][/url] www.kamagrapharma.com





    VERY Necessary for all men:
    [url=http://kamagra-shop.kamagrapharma.com][b]
    kamagra gel
    [/b][/url]

    [url=http://shopkamagra.kamagrapharma.com][b]
    kamagra gel 100 mg
    [/b][/url]


    [url=http://shopkamagra.kamagrapharma.com][b]
    kamagra gel 100 mg
    [/b][/url]

    [url=http://kamagrashop.kamagrapharma.com ][b]
    kamagra gel
    [/b][/url]

    [url=http://kamagra-kamagra.kamagrapharma.com][b]
    kamagra gel 100 mg
    [/b][/url]

    [url=http://kamagra-kamagra.kamagrapharma.com][b]
    kamagra gel 100 mg
    [/b][/url]

    [url=http://kamagra-kamagra.kamagrapharma.com][b]
    kamagra jelly kaufen
    [/b][/url]

    [url=http://kamagra-kamagra.kamagrapharma.com][b]
    kamagra jelly 100mg
    [/b][/url]

    [url=http://kamagra-kamagra.kamagrapharma.com][b]
    jelly kamagra
    [/b][/url]


    [url=http://wild-mountain-ginseng.kamagrapharma.com][b] kamagra
    [/b][/url]


    [url=http://wild-mountain-ginseng.kamagrapharma.com][b]
    kamagra jelly gel
    [/b][/url]


    http://kamagradeutschland.kamagrapharma.com






    [url=http://www.kamagraplanet.com] kamagra bestellen[/url] www.kamagraplanet.com
    [img]http://shopkamagra.kamagrapharma.com/images/kamagra-shop.JPG[/img][/url]
    [url=http://www.kamagralove.com] kamagra bestellen[/url] www.kamagralove.com

    http://www.chanel-bagss.org
    [url=http://www.chanel-bagss.org]
    Chanel Bags online Outlet[/url]


    http://www.winkingsize.com

    [url=http://www.winkingsize.com]internet kasino[/url]

    [url=http://www.unlockplanet.net]Jailbreak iphone[/url]

    [url=http://www.monkredit.com]Kredit ohne Schufa[/url]

    उत्तर देंहटाएं
  11. [url=http://god-n-devil-inc.livejournal.com/13959.html]Дизайн внутренних состояний[/url]

    उत्तर देंहटाएं
  12. Доброго времени суток!

    Господа и дамы к Вашему вниманию лушая мотоэкипировка от известных американских брендов.
    Большой ассортимент и быстрая доставка можно найти на на этом сайте - [url=http://mybikershop.com.ua/]мотоэкипировка[/url]. На сайте можно купить или заказать любую позицию из нашего каталога, в котором уже более 1300 позиций.

    В каталоге магазина прочная мотоэкипировка от ведущих американских производителей.

    उत्तर देंहटाएं
  13. [b]Las Vegas [/b][url=http://www.casinolasvegass.com]casino[/url] [b]robber makes brainless with $1.5m! Las Vegas Pay attention to Overage on cram away released footage of a put down direction via the Bellagio after peculation $1.5 million (£945,700) good of casino chips. [/b]
    Patrolling forward an armed homo sapiens wearing a jumpsuit and a motorcycle helmet with bridge stripes walked into the Bellagio golden handshake cause to retire and [url=http://www.casinolasvegass.com]online casinos[/url] complex in Las Vegas, robbed a betting mothball then fled on a motorcycle break of dawn on Tuesday.
    The 11-second video shows the homo sapiens way at the beck the aegis a [url=http://www.001casino.com]casino[/url] crossing urge and, at sole nitty-gritty, turning and pointing the gun he is carrying behind him.
    Policewomen rely upon the word-for-word cicisbeo may suffer with robbed the Las Vegas Suncoast [url=http://freecasinogames2010.webs.com]Online Casino[/url] poker latitude cashier presence week, where a mistrust wearing a comparable motorcycle helmet made in evil with farther $20,000 (£12,610) in chips.

    उत्तर देंहटाएं
  14. hi

    i am new here

    just wana say hi to all

    DxSEO

    उत्तर देंहटाएं
  15. आदरणीय शास्त्री जी सादर अभिवादन| कई सारी यादें, जो थोड़ी से धुंधली पड़ने लगी थीं, आज फिर से ताज़ा हो गयीं| साहित्य के इस अनमोल खजाने को हमारे जैसे विद्यार्थियों के बीच इसी तरह लुटाते रहिएगा श्रीमान जी|

    उत्तर देंहटाएं
  16. After seeing an close friend going trough a tough moment due to a disease caused from using tobacco I made it my mission to save as much others as possible from the same experience, but quickly I realized that no matter how great your arguments are it's extremely difficult to make a smoker give up smoking cigarettes, not necessarily because the actual arguments aren't sufficiently good and not necessarily because the smoker is just not happy to stop but merely because nicotine is really a more addicting drug than heroin as well as cocaine (scientifically proven).

    Then I found out that there is in fact a method to stop smoking without giving up smoking, therefore give a smoker his pleasure and also habit yet preserve him or her from the harmful effects of smoking cigarettes.

    What I am speaking about are e cigarettes. Read regarding many of the negative effects connected with cigarettes and how a [url=http://electroniccigarette0.com/]electronic cigarette[/url] could help you quite smoking or simply allow you to follow your habit and acquire the kick without the harmful negative effects of smoking on my website http://electroniccigarette0.com

    P.S. I hope this will not get removed due to having a hyperlink to my website as I only try to inform and help.

    God be with you

    Chrissy M.

    उत्तर देंहटाएं
  17. I needed to post you the bit of remark so as to give thanks over again for your personal amazing suggestions you have documented on this site. This has been certainly wonderfully generous with you giving unhampered precisely what a few individuals might have made available as an e-book in order to make some profit for themselves, and in particular considering that you might have tried it if you decided. These advice additionally acted to become a fantastic way to understand that other individuals have a similar keenness the same as my personal own to grasp much more with regard to this matter. I think there are several more enjoyable periods ahead for people who take a look at your website.

    उत्तर देंहटाएं
  18. Am gasit un site nou de [url=http://www.filmepornogratis.info/]Filme XXX[/url]

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

कृपया नापतोल.कॉम से कोई सामन न खरीदें।

मैंने Napptol.com को Order number- 5642977
order date- 23-12-1012 को xelectron resistive SIM calling tablet WS777 का आर्डर किया था। जिसकी डिलीवरी मुझे Delivery date- 11-01-2013 को प्राप्त हुई। इस टैब-पी.सी में मुझे निम्न कमियाँ मिली-
1- Camera is not working.
2- U-Tube is not working.
3- Skype is not working.
4- Google Map is not working.
5- Navigation is not working.
6- in this product found only one camera. Back side camera is not in this product. but product advertisement says this product has 2 cameras.
7- Wi-Fi singals quality is very poor.
8- The battery charger of this product (xelectron resistive SIM calling tablet WS777) has stopped work dated 12-01-2013 3p.m. 9- So this product is useless to me.
10- Napptol.com cheating me.
विनीत जी!!
आपने मेरी शिकायत पर करोई ध्यान नहीं दिया!
नापतोल के विश्वास पर मैंने यह टैबलेट पी.सी. आपके चैनल से खरीदा था!
मैंने इस पर एक आलेख अपने ब्लॉग "धरा के रंग" पर लगाया था!

"नापतोलडॉटकॉम से कोई सामान न खरीदें" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

जिस पर मुझे कई कमेंट मिले हैं, जिनमें से एक यह भी है-
Sriprakash Dimri – (January 22, 2013 at 5:39 PM)

शास्त्री जी हमने भी धर्मपत्नी जी के चेतावनी देने के बाद भी
नापतोल डाट काम से कार के लिए वैक्यूम क्लीनर ऑनलाइन शापिंग से खरीदा ...
जो की कभी भी नहीं चला ....ईमेल से इनके फोरम में शिकायत करना के बाद भी कोई परिणाम नहीं निकला ..
.हंसी का पात्र बना ..अर्थ हानि के बाद भी आधुनिक नहीं आलसी कहलाया .....
--
मान्यवर,
मैंने आपको चेतावनी दी थी कि यदि आप 15 दिनों के भीतर मेरा प्रोड्कट नहीं बदलेंगे तो मैं
अपने सभी 21 ब्लॉग्स पर आपका पर्दाफास करूँगा।
यह अवधि 26 जनवरी 2013 को समाप्त हो रही है।
अतः 27 जनवरी को मैं अपने सभी ब्लॉगों और अपनी फेसबुक, ट्वीटर, यू-ट्यूब, ऑरकुट पर
आपके घटिया समान बेचने
और भारत की भोली-भाली जनता को ठगने का विज्ञापन प्रकाशित करूँगा।
जिसके जिम्मेदार आप स्वयं होंगे।
इत्तला जानें।