समर्थक

मंगलवार, जुलाई 06, 2010

“टिप्पणियाँ कौन लील रहा है? ..मेरा पहला अप्रत्याशित अनुभव” (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री “मयंक”)

क्या कोई तकनीकी विशेषज्ञ बतायेंगे कि आज पोस्ट के नीचे टिप्पणियाँ क्यों नही नजर आ रही हैं?
सुबह "अमर भारती" ब्लॉग पर ऐसा ही कुछ नजर आया तो मैंने ध्यान नही दिया!
फिर एक टिप्पणी स्वयं करके देखी! जो मेल में तो आई मगर पोस्ट में नही आ पाई!
बात आई-गई हो गई! दोपहर को बहन संगीता स्वरूप ने बताया कि "चर्चा मंच" पर सिर्फ 4 ही टिप्पणियाँ आई हैं! मगर मेरे मेल में तो 24 टिप्पणियों की सूचना आ चुकी थी!
अभी कुछ देर पहले “उच्चारण” पर प्रकाशित पोस्ट 4 टिप्पणियों की सूचना मेरे मेल मे आ चुकी है, परन्तुपोस्ट के साथ अभी 0 टिप्पणियों का ही मुखौटा लगा हुआ है!
लगभग 17 माह के जाल जगत के अनुभव में यह मेरा पहला अप्रत्याशित अनुभव है!

19 टिप्‍पणियां:

  1. मैंने भी नोट किया कि कुछ ब्लाग पर मेरी टिप्पणी नहीं प्रकाशित हुई. उम्मीद करनी चाहिये ये पहुंचेगी.

    उत्तर देंहटाएं
  2. desh bhakti ko mazburi manane vaale is blog par tippanio kaa ambaar lag rahaa hai

    dekhie:

    vandematram मुसलमानों पर वन्देमातरम गीत थोपना अपराध sharif khan [12]

    उत्तर देंहटाएं
  3. अरे शास्त्री जी सुबह से यही हाल है ………………ना जाने टिप्पणियाँ कहाँ गायब हो रही हैं और सभी ब्लोगर परेशान हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  4. ऐसा भी गड़बड़झाला हो रहा है ??

    उत्तर देंहटाएं
  5. गूगल बाबा अब जाग गए, आने लगी अब टिप्‍पणियां, दोपहर से हम भी परेशान थे। :)

    उत्तर देंहटाएं
  6. हमारे साथ भी सुबह से यही सब हो रहा है...हमारी पोस्ट पर आपके सहित अन्य ओर बहुत सी टिप्पणियाँ अभी तक भी नदारद हैं, जब कि मेल में पहुँच रही हैं.

    उत्तर देंहटाएं
  7. पता नहीं क्या हो रहा है ! मेरी पोस्ट पर कल जो टिप्पणियाँ प्रकाशित हो गयीं थीं वे भी काफी गायब हो गयी हैं ! मेल बॉक्स से दोबारा प्रकाशित करने की कोशिश कर रही हूँ तो error का नोटिस आ रहा है ! क्या करूँ कुछ समझ में नहीं आ रहा है !

    उत्तर देंहटाएं
  8. मेरी समझ में कुछ नहीं आ रहा है |ब्लॉग पर कविता पर लिखा है ४ टिप्पणी और है केवल २ |
    कल उसी पोस्ट पर लिखा था ३ टिप्पणी और थी
    केवल एक ,जो आज गायब है |
    आशा

    उत्तर देंहटाएं
  9. देरी से आ रही है !
    पर आने लगी है !

    उत्तर देंहटाएं
  10. mere blog par bhi yahi samasya hai ... post ke saath 19 tippaniyan dikh rahi hain, par jab tippaniyan kholta hun to kewal 14 dikhti hain ... kuch gayab ho chuke hain ...

    उत्तर देंहटाएं
  11. मेरे साथ भी यही अनुभव हुए हैं।
    कल सुबह से यही हाल था।
    बहुत सी टिप्पणियाँ अभी तक भी नदारद हैं!!
    पता नहीं क्या हो रहा था!!

    उत्तर देंहटाएं
  12. पता नहीं चला.. गूगल करते है...

    उत्तर देंहटाएं
  13. गूगल बाबा ध्यान दे रहें है.. आप यहाँ रिपोर्ट करें,,

    http://spreadsheets.google.com/viewform?formkey=dEpRZEk5YzRmVUQ5d3B4ZFVSYVQ1UFE6MQ

    उत्तर देंहटाएं
  14. सचमुच ऐसा पहली बार हुआ है..
    मैंने भी नोट किया... हालांकि अब शायद ठीक चल रहा है...
    .
    http://gharkibaaten.blogspot.com

    उत्तर देंहटाएं
  15. ना जाने टिप्पणियाँ कहाँ गायब हो रही हैं और सभी ब्लोगर परेशान हैं।

    उत्तर देंहटाएं
  16. अजी शास्त्री जी,
    हिन्दी की सेवा करते रहिये। टिप्पणियां तो आती-जाती चीज है। ये तो हमारी भी गायब हुई हैं, हमने तो शोर नहीं मचाया।
    अब खुश हो ना। कोई तकनीकी दिक्कत आ गयी होगी। टिप्पणी ही सबकुछ नहीं हैं।

    उत्तर देंहटाएं

केवल संयत और शालीन टिप्पणी ही प्रकाशित की जा सकेंगी! यदि आपकी टिप्पणी प्रकाशित न हो तो निराश न हों। कुछ टिप्पणियाँ स्पैम भी हो जाती है, जिन्हें यथासम्भव प्रकाशित कर दिया जाता है।

कृपया नापतोल.कॉम से कोई सामन न खरीदें।

मैंने Napptol.com को Order number- 5642977
order date- 23-12-1012 को xelectron resistive SIM calling tablet WS777 का आर्डर किया था। जिसकी डिलीवरी मुझे Delivery date- 11-01-2013 को प्राप्त हुई। इस टैब-पी.सी में मुझे निम्न कमियाँ मिली-
1- Camera is not working.
2- U-Tube is not working.
3- Skype is not working.
4- Google Map is not working.
5- Navigation is not working.
6- in this product found only one camera. Back side camera is not in this product. but product advertisement says this product has 2 cameras.
7- Wi-Fi singals quality is very poor.
8- The battery charger of this product (xelectron resistive SIM calling tablet WS777) has stopped work dated 12-01-2013 3p.m. 9- So this product is useless to me.
10- Napptol.com cheating me.
विनीत जी!!
आपने मेरी शिकायत पर करोई ध्यान नहीं दिया!
नापतोल के विश्वास पर मैंने यह टैबलेट पी.सी. आपके चैनल से खरीदा था!
मैंने इस पर एक आलेख अपने ब्लॉग "धरा के रंग" पर लगाया था!

"नापतोलडॉटकॉम से कोई सामान न खरीदें" (डॉ.रूपचन्द्र शास्त्री 'मयंक')

जिस पर मुझे कई कमेंट मिले हैं, जिनमें से एक यह भी है-
Sriprakash Dimri – (January 22, 2013 at 5:39 PM)

शास्त्री जी हमने भी धर्मपत्नी जी के चेतावनी देने के बाद भी
नापतोल डाट काम से कार के लिए वैक्यूम क्लीनर ऑनलाइन शापिंग से खरीदा ...
जो की कभी भी नहीं चला ....ईमेल से इनके फोरम में शिकायत करना के बाद भी कोई परिणाम नहीं निकला ..
.हंसी का पात्र बना ..अर्थ हानि के बाद भी आधुनिक नहीं आलसी कहलाया .....
--
मान्यवर,
मैंने आपको चेतावनी दी थी कि यदि आप 15 दिनों के भीतर मेरा प्रोड्कट नहीं बदलेंगे तो मैं
अपने सभी 21 ब्लॉग्स पर आपका पर्दाफास करूँगा।
यह अवधि 26 जनवरी 2013 को समाप्त हो रही है।
अतः 27 जनवरी को मैं अपने सभी ब्लॉगों और अपनी फेसबुक, ट्वीटर, यू-ट्यूब, ऑरकुट पर
आपके घटिया समान बेचने
और भारत की भोली-भाली जनता को ठगने का विज्ञापन प्रकाशित करूँगा।
जिसके जिम्मेदार आप स्वयं होंगे।
इत्तला जानें।